[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में आमने-सामने भारत-न्यूजीलैंड

मुंबई  :   आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 का पहला सेमीफाइनल मुकाबला आज यानी मंगलवार को भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला जाएगा. मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड में दोनों टीमें पहली बार वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में आमने-सामने होंगी. इससे पहले दोनों टीमें 8 बार वर्ल्ड कप में भिड़ीं हैं, जिसमें 4 बार न्यूजीलैंड ने फतह किया और 3 बार भारत के हिस्से में जीत आई, जबकि एक मुकाबले का नतीजा नहीं निकला.
इस महामुकाबले पर बारिश का खतरा भी मंडरा रहा है. ऐसे में यह मैच विकेट और मौसम पर भी निर्भर है. अगर बादल छाते हैं तो हो सकता है कि भारत सिर्फ एक स्पिनर के साथ खेले और मयंक अग्रवाल को शामिल कर अपनी बल्लेबाजी मजबूत करे.पाटा पिचों की राजा मानी जाने वाली भारतीय टीम की अभी तक आईसीसी वर्ल्ड कप-2019 में सिर्फ एक बार परीक्षा इंग्लैंड के खिलाफ हुई है. इस मुकाबले में टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा. वहीं, वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले 25 मई को अभ्यास मैच में भारत को न्यूजीलैंड से हार का सामना करना पड़ा था. इन दोनों के बीच ग्रुप दौर में जो मैच होना था, वो बारिश के कारण धुल गया था, लेकिन किस्मत इन दोनों को एक बार फिर आमने-सामने ले आई है.पहले सेमीफाइनल में कीवी टीम को भारत के खिलाफ अपनी पूरी ताकत से खेलना होगा क्योंकि भारतीय टीम बेहतरीन फॉर्म में है और उसे सिर्फ एक मैच में ही हार का सामना करना पड़ा है. हां, सवाल एक बार फिर यही है कि क्या विकेट बल्लेबाजों के लिए स्वर्ग है? साथ ही टॉस की भी अहम भूमिका होगी. इस वर्ल्ड कप के 41 मुकाबले में 27 बार पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम जीती है. अब तक कुल 45 मैच हुए हैं, जिसमें 4 बारिश के कारण रद्द हुए थे.मैनचेस्टर में मंगलवार को बारिश की भविष्यवाणी की गई है. हो सकता है कि यहां हल्की-फुल्की बारिश हो, लेकिन ऐसी स्थिति में कीवी टीम का गेंदबाजी आक्रमण काफी खतरनाक हो जाता है. ट्रेंट बोल्ट, लॉकी फर्ग्यूसन, टिम साउदी और कोलिन डी ग्रांडहोम ऐसी स्थिति में किसी भी बल्लेबाजी को परेशान कर सकते हैं.भारत को शुरू से खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा था. वहीं, कीवी टीम पर भी शुरू से ही सभी की नजरें थीं. वैसे बड़े टूर्नामेंट में न्यूजीलैंड ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है और इस बार भी वो सेमीफाइनल में जगह बनाने में सफल रही है. एक समय तो वह पॉइंट टेबल में पहले स्थान पर थी. बाद में कुछ मैचों में हार के बाद उसे अंतिम-4 में चौथे स्थान से संतोष करना पड़ा.कीवी टीम के लिए लॉकी फर्ग्यूसन की फिटनेस परेशानी का विषय है. हालांकि टीम को विश्वास है कि वह फिट हो जाएंगे, लेकिन फिर भी फैसला मैच के दिन ही लिया जाएगा. कप्तान केन विलियमसन ने खुले तौर पर स्वीकार किया है कि वह फर्ग्यूसन पर काफी विश्वास करते हैं.विराट कोहली की कप्तानी वाली भारतीय टीम चाहेगी कि आसमान साफ रहे. टीम ने अपनी बल्लेबाजी को लेकर चिंता सार्वजनिक नहीं की है, लेकिन साफ तौर पर देखा गया है कि कोहली, रोहित शर्मा और लोकेश राहुल ने ही भारत के लिए रन किए हैं और जब मध्य क्रम के टीम को संभालने की बारी आई तो वह असफल रहा.रोहित ने इस टूर्नामेंट में 8 पारियों में 647 रन बनाए हैं. इसमें 5 शतक शामिल हैं. उनके बाद कप्तान कोहली का नंबर है, जिन्होंने 5 अर्धशतक के साथ 447 रन बनाए हैं. तीसरे नंबर पर राहुल हैं, जिनके नाम 360 रन हैं. दिलचस्प बात यह है कि इस सूची में अगला नाम महेंद्र सिंह धोनी का है, जिन्होंने 223 रन बनाए हैं. यह साफ है कि जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार और भारतीय स्पिनरों ने दम दिखाया है, लेकिन मध्य क्रम को आगे आना होगा. साभार  आजतक

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search