[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

PAK पर दर्ज की वर्ल्ड कप की सबसे बड़ी जीत

मुंबई     :   वर्ल्ड कप के हाई वोल्टेज मुकाबले में कोहली की सेना ने पाकिस्तान की टीम को 89 रनों से हरा दिया है. इसके साथ ही भारत ने पाकिस्तान पर वर्ल्ड कप में अपनी सबसे बड़ी जीत हासिल की. इससे पहले टीम इंडिया ने 2015 में अपने चिर प्रतिद्वंद्वी को एडिलेड में 76 रनों से मात दी थी. इस हार के साथ ही पाकिस्तानी टीम की भारत पर पहली जीत का सपना टूट गया. भारत और पाकिस्तान के बीच वर्ल्ड कप में अब तक 7 मुकाबले हुए हैं और सभी 7 मैचों में भारत ने पाकिस्तान की टीम को पटकनी दी है. 
भारतीय क्रिकेट टीम ने अपने हरफनमौला खेल की बदौलत रविवार को ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर खेले गए आईसीसी विश्व कप-2019 के अपने चौथे मुकाबले में पाकिस्तान को 89 रनों से हरा दिया. मैच का फैसला डकवर्थ-लुइस नियम के आधार पर हुआ. टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने रोहित शर्मा (140) के करियर के 24वें शतक के अलावा लोकेश राहुल (57) तथा कप्तान विराट कोहली (77) की उम्दा पारियों की मदद से 50 ओवरों में पांच विकेट पर 336 रन बनाए. जवाब में पाकिस्तानी टीम 40 ओवरों में 6 विकेट पर 212 रन ही बना सकी. तीसरी बार आई बारिश के बाद पाकिस्तान को 40 ओवरों में 302 रन बनाने का लक्ष्य मिला था. खेल रोके जाने तक पाकिस्तान ने 35 ओवर में 6 विकेट पर 166 रन बनाए थे. पाकिस्तान की ओर से फकर जमान ने सबसे अधिक 62 रन बनाए. भारत की ओर से कुलदीप यादव, विजय शंकर और हार्दिक पांड्या ने 2-2 विकेट लिए. इस तरह भारत ने विश्व कप आयोजनों में पाकिस्तान के खिलाफ अपना अजेय क्रम बरकरार रखा है. 1992 में दोनों टीमें पहली बार आपस में भिड़ी थीं और तब से लेकर आज तक भारत ने लगातार सात बार पाकिस्तान को हराया है. पाकिस्तान की शुरुआत बहुत खराब रही और 13 रन के स्कोर पर पहला झटका लगा. दरअसल, पारी के 5वें ओवर में भुवनेश्वर कुमार को चोट लग गई और 4 गेंद फेंकने के बाद वो बाहर हो गए. इसके बाद उनके ओवर की बची 2 गेंद डालने के लिए विजय शंकर को बुलाया गया, जिन्होंने वर्ल्ड कप में अपने करियर की पहली गेंद पर ही भारतीय टीम को पहली सफलता दिलाई. शंकर ने इमाम उल हक को एलबीडब्ल्यू आउट किया.हालांकि, 5वें ओवर में बाहर गए भुवनेश्वर को लेकर खबर आई कि वो दोबारा इस मैच में मैदान पर नहीं उतर पाएंगे. यह खबर भारतीय गेंदबाजी खेमे के लिए बड़ा झटका था लेकिन हार्दिक पंड्या और कुलदीप की गेंदबाजी ने भुवनेश्वर की कमी को खलने नहीं दिया.एक विकेट गिरने के बाद पाकिस्तान के दोनों बल्लेबाज (फखर जमान और बाबर आजम) भारतीय गेंदबाजों पर हावी नजर आए. 3 ओवर में (21, 22 और 23वें ओवर में) दोनों बल्लेबाजों ने 26 रन कूटे और 100 रनों की पार्टनरशीप पूरी की. इस समय पाकिस्तान का स्कोर 1 विकेट पर 113 रन था. फखर और बाबर क्रीज पर जम चुके थे, लेकिन कुदलीप दोनों की 114 रनों की पार्टनरशीप तोड़ने में सफल रहे. उन्होंने 24वें ओवर की आखिरी गेंद पर बाबर आजम को पवेलियन का रास्ता दिखाया और यहीं से मैच का रुख पूर्ण रूप से बदल गया. बाबर 57 गेंदों पर 48 रन बनाकर आउट हुए. इस दौरान उन्होंने 1 छक्का और 3 चौके लगाए. पाकिस्तानी पारी की 26वें ओवर में कुलदीप ने पाकिस्तान को एक और झटका दिया. उन्होंने खतरनाक दिख रहे फखर जमान को 62 रन के निजी स्कोर पर चहल के हाथों कैच कराया. कुलदीप के कहर से उबरने का प्रयास कर रही पाकिस्तानी टीम को अगले ही ओवर (27वें) में हार्दिक पंड्या ने लगातार 2 झटके देकर विरोधी खेमे को पूरी तरह पस्त कर दिया. उन्होंने पहले मोहम्मद हफीज को 9 रन के निजी स्कोर पर चलता किया. फिर अगली ही गेंद पर शोएब मलिक को भी बोल्ड कर दिया. इसी के साथ पाकिस्तान की आधी टीम पवेलियन लौट गई. इस तरह महज 12 रनों के अंतराल में पाकिस्तान के 4 विकेट गिर गए. 27 ओवर के बाद पाकिस्तान का स्कोर 5 विकेट के नुकसान पर 129 रन था. 35वें ओवर की पहली गेंद पर विजय शंकर ने पाकिस्तानी सरफराज अहमद को चलता किया. कप्तान सरफराज के रूप में गिरे छठे विकेट के साथ ही पाकिस्तानी टीम की सभी उम्मीदें खत्म हो गईं. सरफराज ने 30 गेंदों पर 12 रन बनाए. 35 ओवर में पाकिस्तान का स्कोर 166 रन था और तभी बारिश आ गई. बारिश के कारण मैच दोबारा नहीं हो सका और DLS मैथड से टीम इंडिया ने पाकिस्तान की टीम को 86 रनों से हराकर मैच अपने नाम कर लिया. इसी के साथ वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया ने जीत का सिलसिला जारी रखा.   साभार  आजतक

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search