[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

आकाश की जमानत फिर खारिज, जेल में ही रहेंगे, अब भोपाल में होगी सुनवाई

इंदौर   :     नगर निगम अधिकारी की बल्ले से पिटाई करने वाले इंदौर-3 के विधायक व भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश को फिलहाल जेल में ही रहना होगा। गुरुवार को उनकी तरफ से अपर सत्र न्यायालय में जमानत अपील दायर की गई थी। कोर्ट ने यह कहते हुए अपील खारिज कर दी कि मंत्री, विधायकों से जुुड़े आपराधिक मामलों की सुनवाई के लिए भोपाल में एक कोर्ट निर्धारित कर दी गई। इस कोर्ट को जमानत अर्जी पर सुनवाई का अधिकार नहीं है।
सुनवाई के दौरान नगर निगम ने भी जमानत पर आपत्ति लेते हुए कहा गया कि जबलपुर हाईकोर्ट के 26 फरवरी 2018 को जारी नोटिफिकेशन में साफ है कि विधायक, सांसदों से जुड़े आपराधिक मामलों की सुनवाई भोपाल में 21वें अपर सत्र न्यायाधीश ही करेंगे। उधर, आरोपी आकाश की ओर से कहा गया कि भोपाल में ट्रायल चलाए जाने के आदेश दिए गए हैं, जमानत अर्जी पर तो यहां भी सुनवाई हो सकती है। विधि के जानकारों के मुताबिक अधिनियम 1951 (रिप्रेजेंटेशन आॅफ द पीपल एक्ट) के तहत यदि विधायक आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ जिन धाराओं में केस दर्ज हुआ है, वह ट्रायल के दौरान साबित हो जाती हैं तो वह चुनाव लड़ने के लिए छह साल के लिए अयोग्य हो सकते हैं।  कानून के जानकारों के मुताबिक आकाश शुक्रवार को जमानत के लिए भोपाल जिला व सत्र न्यायालय में नए सिरे से अपील कर सकते हैं। वहां मामले को जिला जज खुद सुनेंगे या फिर किसी एडीजे को ट्रांसफर करेंगे। इसके बाद इंदौर से केस डायरी बुलाई जाएगी। डायरी कोर्ट के निर्धारित समय पर नहीं पहुंची तो अगले दिन शनिवार और फिर रविवार हैै। शनिवार को केवल अर्जेंट मामले ही सुने जाते हैं। एेसे में सोमवार के पहले सुनवाई होना मुश्किल है। जिस मकान को ढहाने से बचाने के लिए आकाश ने अफसर पर बैट से हमला किया था, उसे गिराने का आदेश शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में ही जारी किया गया था।सीएम कमलनाथ ने कहा- दुख की बात है। भाजपा नेताओं के ऐसे काम को पूरा प्रदेश देख रहा है। वहीं कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता केके मिश्रा ने कैलाश विजयवर्गीय पर तंज कसते हुआ कहा- ‘जो आप करते थे, वही आपका बेटा कर रहा है। आप भी इंदौर के तत्कालीन एएसपी से अशोभनीय व्यवहार कर चुके हैं। वही संस्कार आपके बेटे में हैं।’ साभार  dainik bhasker

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search