[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

भारत और ऑस्ट्रेलिया की आज होगी जंग

मुंबई  :     तीसरी बार वर्ल्ड कप कब्जाने के अभियान में भारतीय टीम लंदन में रविवार को जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैदान में उतरेगी तो उसकी नजर न सिर्फ कंगारुओं को धूल चटाने पर होगी बल्कि उस वर्ल्ड रिकॉर्ड पर भी रहेगी जिसे हासिल करने के लिए 5 बार की चैंपियन टीम के खिलाफ हर हाल में एक शतक लगाना ही होगा, साथ ही उसके बल्लेबाजों को शतक लगाने से रोकना भी होगा.
टूर्नामेंट का यह 14वां मुकाबला उस वर्ल्ड रिकॉर्ड का गवाह बन सकता है जिसमें दोनों टीमों के बीच वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा शतक लगाने को लेकर जोरदार जंग चल रही है. वर्ल्ड कप के आगाज से पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम के नाम टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे ज्यादा 26 शतक लगाने का रिकॉर्ड दर्ज था. लेकिन इस वर्ल्ड कप में अपने पहले ही मैच में रोहित शर्मा की शानदार शतकीय पारी की बदौलत भारत ने सर्वाधिक शतक लगाने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली.अब वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाली दोनों टीमें रविवार को आमने-सामने होंगी तो सब की निगाह इस पर होगी कि यह वर्ल्ड रिकॉर्ड किस टीम के खाते में जाता है. फिलहाल ओवरऑल वर्ल्ड कप में भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही टीमों के खाते में 26-26 शतक दर्ज हैं.क्रिकेट के महाकुंभ में शतकों की शुरुआत की बात करें तो वर्ल्ड कप के शुरुआती मैच में ही इसका आगाज हो गया था. 1975 में खेले गए शुरुआती वर्ल्ड कप के पहले दिन (7 जून) को 2 मैच हुए और दोनों ही मैचों में शतक लगे. इंग्लैंड और भारत के बीच पहला मैच लंदन में खेला गया जिसमें मेजबान टीम की ओर से पहला शतक डेनिस एमिस ने लगाया जिन्होंने 147 गेंदों का सामना करते हुए 18 चौके की मदद से 137 रन बनाए.इसी दिन खेले गए एक अन्य मैच में बर्मिघम में न्यूजीलैंड के ग्लेन टर्नर ईस्ट अफ्रीका के खिलाफ ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए नाबाद 171 रनों की पारी खेल डाली.वर्ल्ड कप में भारत को पहले शतक के लिए तीसरे वर्ल्ड कप का इंतजार करना पड़ा. 1983 के वर्ल्ड कप में कप्तान कपिल देव ने जिम्बाब्वे के खिलाफ टीम को संकट से उबारते हुए 175 रनों की ऐतिहासिक पारी खेली और शतकों के क्लब में टीम को शामिल कराया.  साभार  आजतक

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a comment

Start typing and press Enter to search