[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

नरेंद्र मोदी के वन नेशन-वन इलेक्शन का विरोध कर सकता है विपक्ष, अंतिम फैसला कल

नई दिल्ली  :   संसद में सरकार को घेरने के लिए विपक्ष ने रणनीति बनानी शुरू कर दी है. इसी सिलसिले में मंगलवार को संसद में विपक्ष की बड़ी हुई. इस बैठक में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत दूसरी पार्टी के कई नेता मौजूद रहे. इन नेताओं में सीपीआई नेता डी राजा, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला, डीएमके नेता कनिमोझी, टीआर बालू, एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले शामिल थे.
सोनिया गांधी ने करीब 10 विपक्षी नेताओं के साथ मुलाकात की. इस मुलाकात में सोनिया गांधी ने सभी लोगों से हालचाल जाना और यह तय किया कि कल एक बार फिर बैठक होगी और उसमें तय होगा कि वन नेशन वन इलेक्शन पर प्रधानमंत्री ने जो बैठक बुलाई है उसमें पार्टी के अध्यक्ष या उनके प्रतिनिधि जाएंगे या नहीं. हालांकि सभी पार्टियां इस बात पर सहमत हैं कि वन नेशन वन इलेक्शन संभव नहीं है, और यह ठीक भी नहीं है.एक नेता ने यहां तक कहा कि कभी वन नेशन वन इलेक्शन, कभी वन नेशन वन लैंग्वेज इस तरह की बातें देश को बांटने वाली है और हमारा देश ऐसा नहीं है. इस नेता ने कहा कि जिस तरीके से देश में चुनाव होते हैं एक बार आपने वन नेशन वन इलेक्शन कराया भी तो उसके बाद उपचुनाव भी होते हैं. कभी कोई सरकारी गिरती है तो यह फिर लगातार चलने वाली प्रक्रिया नहीं रह पाएगी. इसलिए इसे लादना ठीक नहीं. एक नेता ने राय दी कि आज आप एक देश एक चुनाव की बात करेंगे, कल एक देश एक धर्म की बात होगी, फिर एक देश एक पहनावे की बात होगी. साभार  आजतक

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search