[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

UP में महागठबंधन नहीं हुआ तो बहुमत से पीछे रहेगा NDA

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है. सभी राजनीतिक दल पूरी तरह से चुनावी जंग की तैयारियों में जुट गए हैं. अभी तक सामने आए तमाम सर्वे की मानें तो इस बार किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत मिलता नहीं दिख रहा है. एक और सर्वे के मुताबिक राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) लोकसभा चुनाव में बहुमत से थोड़ा दूर रहेगा, लेकिन गठबंधन के जरिए बेहद आसानी से सरकार बना लेगा.
सर्वे में एनडीए को 264 सीटें दी गई हैं, जबकि यूपीए को 141 सीटें मिलने की उम्मीद जताई गई है. इसके अलावा अन्य दलों को 138 सीटें मिलने का अनुमान है. वहीं, अगर यूपी में महागठबंधन नहीं होता है, तो एनडीए की झोली में 307 सीटें जाएंगी और यूपीए को महज 139 सीटें से संतोष करना पड़ेगा. इसके अलावा अन्य दलों के खाते में 97 सीटें जा सकती हैं. आईएएनएस के लिए सी-वोटर द्वारा किए गए ताजा सर्वे के मुताबिक यूपी में जीत के आधार पर ही अगली लोकसभा का रूपरेखा निर्धारित होगा. इस सर्वे के मुताबिक अगर उत्तर प्रदेश में महागठबंधन नहीं होता है, तो एनडीए को फायदा होगा और नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए 300 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करेगा सी-वोटर ने यह सर्वे मार्च में उस समय किया, जब भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों पर एयर स्ट्राइक की, जिसकी वजह से पूरे देश में राष्ट्रवाद की लहर दौड़ पड़ी. भारतीय जनता पार्टी (BJP) को उम्मीद है कि इस लहर के जरिए वह लोकसभा चुनाव में विपक्ष को मात दे देगी. सर्वे में भी इस बात की पुष्टि हुई कि नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद के पसंदीदा उम्मीदवार की दौड़ में सबसे आगे हैं. अगर सिर्फ बीजेपी की बात करें, तो इस चुनाव में उसको 220 सीटें और उसके गठबंधन सहयोगियों को 44 सीटें मिल सकती हैं. अगर एनडीए मिजो नेशनल फ्रंट (MNF), वाईएसआर कांग्रेस, तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) और बीजू जनता दल (BJD) से चुनाव बाद गठबंधन करता है, तो उसकी सीटों की संख्या 301 हो जाएगी. वहीं, कांग्रेस को 86 सीटों पर जीत मिलने की संभावना है और उसकी सहयोगी पार्टियों को 55 सीटें मिल सकती हैं. यूपीए अगर चुनाव बाद गठबंधन करता है और इसमें वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (LDF), अखिल भारतीय संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (AIUDF), तृणमूल कांग्रेस (TMC), यूपी गठबंधन शामिल होती हैं, तो सीटों का कुल आंकड़ा 226 पहुंच जाएगा. सर्वे के मुताबिक अगर यूपी में महागठबंधन होता है, तो बीजेपी 71 से 29 सीटों तक सिमट सकती है. महागठबंधन नहीं होने की स्थिति में बीजेपी 2014 के नतीजों को दोहरा सकती है और 72 सीटों पर कब्जा कर सकती है. बीजेपी को बिहार से सबसे ज्यादा 36 सीटें मिल सकती हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को बिहार में 22 सीटों पर जीत मिली थी. इस बार गुजरात में भी बीजेपी की सीटें कम हो सकती हैं. इस बार बीजेपी को वहां 24 सीटें मिलने की संभावना जताई जा रही है. पिछली बार गुजरात में बीजेपी को सभी 26 सीटों पर जीत मिली थी. इसके अलावा कर्नाटक में बीजेपी की एक सीट कम हो सकती है और सिर्फ 16 सीटों पर ही जीत मिलने की संभावना है. साभार आजतक

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search