[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

क्या मर गया आतंक का सरगना मसूद अजहर? जांच में जुटीं भारतीय एजेंसियां

नई दिल्ली: खूंखार आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर के मौत की खबर आ रही है. मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक 2 मार्च को आतंक के सौदागर मसूद अजहर की पाकिस्तानी आर्मी के इस्लामाबाद हॉस्पिटल में मौत हो गई है. हालांकि अभी तक इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. पाकिस्तान सरकार और सेना ने भी मसूद अजहर की मौत की खबर पर चुप्पी साध रखी है. हालांकि सूत्रों ने मसूद अजहर के मारे जाने की खबर का खंडन किया है.
सूत्रों के मुताबिक मसूद अजहर जिंदा है, लेकिन उसकी तबियत नाजुक है. उसके लिवर कैंसर का इलाज चल रहा है. मसूद अजहर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की निगरानी में है. जैश-ए-मोहम्मद ने भी मसूद अजहर के मारे जाने की कोई पुष्टि नहीं की है. इससे पहले पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने मौलाना मसूद अजहर के बीमार होने का दावा किया था.उन्होंने कहा था कि मसूद अजहर पाकिस्तान में है और वह इतना बीमार है कि अपने घर से नहीं निकल सकता है. ऐसे में मसूद अजहर के मरने की खबर को लेकर लोग सोशल मीडिया पर सवाल कर रहे हैं. हाल ही में बालाकोट में हुई एयर स्ट्राइक में भी उसके मारे जाने की आशंका जताई जा रही है.वहीं, भारतीय जांच एजेंसियां पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद मसूद अजहर की मौत की खबर की जांच में जुट गई हैं. अधिकारियों ने बताया कि इस बात का पता लगाया जा रहा है कि क्या मसूद अजहर मर गया है या जिंदा है? अधिकारियों ने कहा कि उन्हें इसके अलावा कोई जानकारी नहीं है कि मसूद अजहर का पाकिस्तानी सेना के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. उसके गुर्दे खराब हो चुके हैं.पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के बहावलपुर के रहने वाले मसूद अजहर ने 2 हजार में जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन बनाया था. मसूद अजहर पर 2001 के संसद हमले की साजिश रचने, जम्मू कश्मीर विधानसभा पर आत्मघाती हमले, पठानकोट वायुसेना के ठिकाने में हमले और पुलवामा आतंकी हमले की साजिश रचने के आरोप हैं. साल 1999 में तत्कालीन एनडीए सरकार ने इंडियन एयरलाइन्स के अगवा विमान आईसी-814 को छुड़ाने के बदलने मसूद अजहर को छोड़ दिया था. वहीं, रक्षा विशेषज्ञ मसूद अजहर के मारे जाने की खबर को पाकिस्तान की चाल मान रहे हैं. आपको बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद से भारत समेत दुनिया के देशों का जैश-ए-मोहम्मद और उसके सरगना पर कार्रवाई का पाकिस्तान पर जबरदस्त दबाव है. माना जा रहा है कि अंतरराष्ट्रीय दवाब से बचने के लिए पाकिस्तान ने मसूद अजहर के मारे जाने की अफवाह उड़ाई है.ट्विटर पर मसूद अजहर के मरने की खबर ट्रेंड कर रही है. लोग इस खबर को खूब ट्वीट और रिट्वीट कर रहे हैं. ट्विटर यूजर देविका ने ट्वीट किया कि भारतीय मीडिया फिर से पाकिस्तान के प्रोपेगैंडा को चला रही है. मसूद अजहर जिंदा भी हो सकता या नहीं भी जिंदा हो सकता है, लेकिन बिना किसी खुफिया जानकारी के मसूद को मरा बताना मूर्खता है. याद रहे कि पाकिस्तान मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय दबाव से बचा रहा है. साभार आजतक

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search