[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

नगालैंड, मेघालय और त्रिपुरा में सरकार बनाने की दिशा में BJP ने बढ़ाए कदम

नई दिल्ली: पूर्वोत्तर के त्रिपुरा, नगालैंड और मेघालय के चुनाव नतीजों से गदगद बीजेपी ने शनिवार को संसदीय बोर्ड की बैठक की. इस बैठक में तीनों राज्यों में आगे पार्टी की क्या योजना होगी, इस पर चर्चा की गई. केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने बताया कि संसदीय बोर्ड ने एक प्रस्ताव पासकर नगालैंड, मेघालय और त्रिपुरा की जनता को धन्यवाद दिया.
इस प्रस्ताव में कहा गया कि ये प्रजातंत्र की जीत है. नड्डा ने बताया कि त्रिपुरा में बीजेपी को दो तिहाई बहुमत मिला है, नगालैंड में बीजेपी गठबंधन की सरकार बनाएगी और मेघालय में बीजेपी गठबंधन की सरकार बनाने की दिशा में आगे बढ़ रही है. बैठक में ये तय किया गया कि तीनों राज्यों के लिए किसे पर्यवेक्षक बनाया जाए.त्रिपुरा में नितिन गडकरी और जुएल उरांव, नगालैंड में जेपी नड्डा और अरुण सिंह, मेघालय में किरण रिजिजू और के एल्फोंस पर्यवेक्षक होंगे. ये पर्यवेक्षक तीनों राज्यों में जाकर नए-नए निर्वाचित हुए विधायकों से किसे मुख्यमंत्री बनाया जाए, इस पर चर्चा करेंगे और फिर पार्टी आलाकमान को विधायकों की राय से अवगत कराएंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि लोकतंत्र में जय और पराजय स्वाभाविक है. अगर रगों में लोकतंत्र है तो हार को भी स्वीकार किया जा सकता है. 2014 से मैं लगातार देख रहा हूं कि जो लोकतंत्र की दुहाई देते रहे हैं, वह पराजय को स्वीकार नहीं कर पा रहे हैं. त्रिपुरा में हार के बाद लेफ्ट का बयान चौंकाने वाला है. विरोधियों के गलत प्रचार के बीच भी लोगों के बीच बीजेपी और भारत सरकार की अच्छाई पहुंच रही है. पार्टी कार्यकर्ताओं से पीएम मोदी ने कहा कि ये यात्रा NO ONE से WON और शून्य से शिखर तक की है. उन्होंने कहा कि जब सूर्य अस्त होता है तो लाल रंग का होता है और जब उदय होता है तो केसरिया रंग का होता है. देश होली के दौरान अलग रंगों से रंगा था, लेकिन आज हर रंग केसरिया रंग हो गया है. बीजेपी और उसके सहयोगी दल त्रिपुरा में आसानी से सरकार का गठन कर लेंगे. बीजेपी गठबंधन ने यहां 40 फीसदी वोट हासिल किया है. बीजेपी ने 35 जबकि वाम मोर्चे ने 16 सीटों पर जीत हासिल की है. इसी तरह नगालैंड में भी बीजेपी सरकार की मजबूत दावेदार के रूप में सामने आई है. बीजेपी यहां अपनी सहयोगी पार्टी नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी(NDPP)के साथ सरकार बनाएगी. यहां बीजेपी को 11 सीटों पर और एनडीपीपी को 16 सीटों पर जीत हासिल हुई है, जबकि एक-एक सीट पर जेडीयू और निर्दलीय को विजय मिली है. यहां एनपीएफ ने 27 और एनपीपी ने 2 सीटों पर कामयाबी पाई है. राम माधव ने बताया कि बीजेपी गठबंधन को निर्दलीय और जेडीयू का समर्थन मिल चुका है. साभार aaj tak

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search