[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

PNB का GM स्तर का अधिकारी गिरफ्तार

मुंबई : पंजाब नेशनल बैंक में 11400 करोड़ रुपयों के महाघोटाले के केस में सीबीआई ने पंजाब नेशनल बैंक के जनरल मैनेजर रैंक के अधिकारी राजेश जिंदल को गिरफ्तार किया है. यह गिरफ्तारी मंगलवार रात को हुई. जिंदल अगस्त 2009 से मई 2011 के बीच मुंबई में पीएनबी की ब्रैडी हाउस शाखा में ब्रांच हेड के तौर पर कार्यरत थे.
इस मामले की बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होनी है. एक जनहित याचिका में पीएनबी के वरिष्ठ अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई और नीरव मोदी के प्रत्यर्पण की मांग की गई है. यह जनहित याचिका वकील विनीत ढांडा ने दाखिल की है. उन्होंने अपील की है कि 10 करोड़ रुपये से ऊपर के बैंक लोन के लिए गाइडलाइन बनाई जाएं. महाघोटाला करने वाले नीरव मोदी की भारत की तमाम जांच एजेंसियों को तलाश है. भारत में सीबीआई, ईडी से लेकर आयकर विभाग नीरव मोदी के ठिकानों पर लगातार छापे मार रहे हैं. दूसरी ओर नीरव पीएनबी से लेकर अपने कर्मचारियों को ई-मेल लिख रहे हैं, पर जांच एजेंसियों के हाथ नहीं लग रहे हैं. नीरव मोदी ने अब अपने कर्मचारियों को ई-मेल लिखा है. उन्होंने अपने कर्मचारियों को सावधान किया है और उन्हें काम पर न आने के लिए कहा है. नीरव मोदी की फर्म से जुड़े कर्मचारियों को मंगलवार को एक ई-मेल मिला. इसमें कर्मचारियों से दफ्तर न आने को कहा गया है. साथ ही ये भी ताकीद की गई है कि वे किसी से कोई बात न करें. इसके साथ ही नीरव मोदी ने अपने कर्मचारियों से कहा है कि वेतन को लेकर वे चिंतित न हों. उन्होंने लिखा है कि सभी को वेतन दिया जाएग, इसलिए किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है. नीरव मोदी की संपत्ति और ज्वैलरी भी जब्त की जा रही है. यही वजह है कि नीरव मोदी ने कर्मचारियों को ठिकानों पर न आने की ताकीद की है. इससे पहले सोमवार को नीरव मोदी का पंजाब नेशनल बैंक को लिखा गया पत्र सामने आया था. ये पत्र 15-16 जनवरी को लिखा गया है जिसमें नीरव मोदी ने पंजाब नेशनल बैंक को लोन का पैसा चुकाने से साफ इनकार कर दिया है. नीरव मोदी ने पीएनबी को लिखी इस चिट्ठी में कहा है कि उनके ऊपर बकाया रकम बढ़ाकर बताई गई है. चिट्ठी में ये भी लिखा गया है कि बकाया रकम 5000 करोड़ से कम है. उन्होंने साफ लिखा कि इस घटनाक्रम से उनकी कंपनी की साख गिरी है और उन्हें नुकसान पहुंचा है, इसलिए अब वो इसे चुकाने की स्थिति में नहीं हैं. साभार aaj tak

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search