[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

शिव ‘राज’ की मेहरबानी एक व्यक्ति को तीन ईएनसी की जिम्मेदारी

bhopal: प्रदेश की भाजपा सरकार अपने चहेते अफसरों को उपकृत करने के लिए सारे नियमों को ताक पर रख देती है। सरकार में हालात यह हो गए हैं कि अपने लोंगो को फायदा पहुंचाने के लिए उन्हें एक साथ कई जिम्मेदारियों से नवाजा जा रहा है । सरकार में बैठे जनप्रतिनिधियों और आला अफसरों को इससे कोई लेनादेना नहीं है कि एक साथ कई जिम्मेदारियों को लेकर वो काम के साथ न्याय कर पाएगा या नहीं या फिर काम की गुणवत्ता पर फर्क पड़ेगा ।
ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है, जिसमें एक इंजीनियर को तीन अलग-अलग विभागों में इंजीनियर-इन-चीफ (ईएनसी) की जिम्मेदारी सौंपी गई है । जानकारी के अनुसार जितेंद्र दुबे मप्र वेअरहाउसिंग एंड लाजिस्टिक कार्पोरेशन में ईएनसी के पद पर कार्यरत है । यहां उनको वेअरहाउस बनवाने का काम करना पड़ता है । मजेदार बात यह है कि वेअरहाउस बनवाने वाले को अचानक से वेअरहाउसिंग एंड लाजिस्टिक कार्पोरेशन के साथ ही अप्रैल 2016 में नगरीय प्रशासन विभाग के अंतर्गत भोपाल और इंदौर में मेट्रो रेल का नेटवर्क स्थापित करने के लिए मेट्रो रेल कंपनी में भी ईएनसी की राज्य सरकार ने जिम्मेदारी थमा दी। जितेंद्र दुबे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के करीबी बताए जाते है इसलिए ईएनसी के दो पद संभालने के साथ ही पिछले महीने मप्र राज्य कृषि विपणन बोर्ड में भी ईएनसी की जिम्मेदारी सौंप दी गई ।
—————–
मूल विभाग के काम की जिम्मेदारी एडीशनल
जितेंद्र दुबे अप्रैल 2016 में बाकायदा वेयरहाउसिंग एंड लाजिस्टिक कार्पोरेशन से मेट्रो रेल कंपनी में प्रतिनियुक्ती पर ज्वॉइन करने के लिए शासन के आदेश पर रिलीव होकर आए थे। यही कारण है कि श्री दुबे का वेतन मेट्रो रेल कंपनी से निकलता है। इसके बाद शासन एक आदेश जारी कर वेयरहाउसिंग एंड लाजिस्टिक कार्पोरेशन में ईएनसी की एडीशनल जिम्मेदारी दे दी। आश्चर्यजनक बात यह है कि मूल विभाग में एडीशनल जिम्मेदारी दे दी गई । जब वेयरहाउसिंग एंड लाजिस्टिक कार्पोरेशन में एडीशनल काम देना ही था तो यहां से मेट्रो के लिए रिलीव ही क्यों किया। इन दोनों के बाद अब मंडी बोर्ड में ईएनसी की बना दिया गया । श्री दुबे ईएनसी के तीनों पदों की सुविधा का भी धड़ल्ले से इस्तेमाल कर रहे है ।
——————–
जितेंद्र दुबे से बातचीत
सवाल-आप एक साथ तीन विभागों में ईएनसी है?
जवाब-वेयरहाउसिंग कार्पोरेशन में मेरा मूल पद है। मेट्रो की जिम्मेदारी दी गई है, मंडी बोर्ड में ईएनसी की जिम्मेदारी मुझे कुछ समय के लिए दी गई है।
सवाल -आप एक साथ ईएनसी के तीन पद पर रहकर काम के साथ न्याय कैसे कर पाते है?
जवाब -मंडी बोर्ड का काम जल्द ही छूट जाएगा। मंडी बोर्ड का काम मै खुद भी नहीं चहता।

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search