[Latest News][6]

गैलरी
देश
राजनीति
राज्य
विदेश
व्यापार
स्पोर्ट्स
स्वास्थ्य

अखिलेश और मुलायम की बुलाई बैठक के बाद समीकरण होंगे साफ


लखनऊ: लखनऊ: नवंबर की शुरुआत में सिल्वर जुबली मनाने वाली समाजवादी पार्टी दिसंबर का अंत होते-होते टूट गई।टिकट बंटवारे को लेकर टकराव इतना बढ़ा कि पांच साल पहले अपनी विरासत बेटे को सौंपने वाले पिता मुलायम सिंह यादव ने उसी बेटे अखिलेश यादव को छह साल के लिए पार्टी से ही निकाल दिया।
शुक्रवार को पूरे दिन चले इस सियासी तूफान के बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज सुबह 9:30 बजे विधायकों की बैठक बुलाई है। दोपहर 12 बजे वे पार्टी नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों से भी मिलेंगे। इधर, दूसरी ओर सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने आज सुबह 10 बजे उन लोगों की बैठक बुलाई है, जिनका उन्होंने टिकट काट दिया है। अब देखना होगा कि कितने लोग मुलायम से मिलने पहुंचते हैं और कितने लोग पिता पर पुत्र को तवज्जो देकर अखिलेश की बैठक का हिस्सा बनते हैं। इसके बाद ही आगे के समीकरण साफ हो सकेंगे. क्या अखिलेश मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफ़ा देकर नई पार्टी बनाएंगे या फिर सुलह की गुंजाइश अब भी बाक़ी है। अखिलेश और रामगोपाल को अनुशासनहीनता के आरोप में पार्टी से निकाले जाने के बाद बड़ी संख्या में अखिलेश समर्थक उनके घर के बाहर जमा हो गए और अखिलेश के समर्थन में नारेबाज़ी करने लगे। एक समर्थक ने तो आत्मदाह की भी कोशिश की। अखिलेश समर्थक मुलायम सिंह यादव से अपना फैसला वापस लेने की मांग कर रहे थे। समर्थकों को उग्र होते देख अखिलेश ने अपने एक विधायक को समर्थकों के बीच भेज कर संयम बरतने का संदेश दिया। साथ ही किसी अनहोनी की आशंका के मद्देनज़र मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव के घर के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम के निर्देश दिए।

About Author Umesh Nigam

crime reporter.

No comments:

Post a Comment

Start typing and press Enter to search